Rss Feed
  1. नेहक झूठ आश नै दिअ
    धरती बिनु अकाश नै दिअ

    हो अस्तित्व नै हमर जतऽ
    तेहन ठाम बास नै दिअ

    अनहारे रहत हमर हिय
    ई फुसिकेँ प्रकाश नै दिअ

    हम छी जाहिमे बसल नै
    से बेकार सांस नै दिअ

    नै चाही सिनेह एहन
    जिनगीमे हतास नै दिअ

    मात्रा क्रम : 2221-2122
    (मफऊलात–फाइलातुन)

    © कुन्दन कुमार कर्ण
    Reactions: 
    |
    |


  2. हमरा देखिते ओ लजा गेलै
    जादू नेहकेँ ओ चला गेलै

    भेलै कात नै ई नजरि कनियो
    चुप्पे चाप नैनसँ बजा गेलै

    रहितो दूर देहसँ हमर जे ओ
    छातीमे बुझायल सटा गेलै

    अनचिन्हार छल ओ मुदा एखन
    सदिखन लेल अप्पन बना गेलै

    कुन्दन केर ओ मानिकेँ जिनगी
    कोमलसन हियामे बसा गेलै

    मात्रा क्रम : 2221-2212-22

    © कुन्दन कुमार कर्ण
    Reactions: 
    |
    |


  3. आइ लव यू शिव
    हियसँ बाजू शिव

    मोन मन्दिरमे
    सभ सजाबू शिव

    गीतमे सदिखन
    मात्र गाबू शिव

    भक्ति घट घटमे
    भजि जगाबू शिव

    एक नारा बस
    नित लगाबू शिव

    मात्राक्रम : 2122-2

    © कुन्दन कुमार कर्ण
    Reactions: 
    |
    |